Hanuman Jayanti 2023- Date and time | कब है हनुमान जयंती | क्यों और कैसे मनाई जाती हैं

Hanuman Jayanti 2023 - Hanuman ji को कलयुग के जाग्रित देवता में से एक माना जाता है और हनुमान जी भगवान शिव के 11 वें रूद्र अवतार के रूप में जाने जाते हैं। भगवान हनुमान जी को जल्द ही प्रसन होने वाले देवता के रूप में भी जाना जाता हैं। कहते है की जो भक्त सच्चे मन से hanuman ji का स्मर्ण करता हैं हनुमान जी उसकी समस्थ बाधाओं का हरण कर लेते है।

हनुमान जी की आराधना करने के लिए भक्तजनो को हनुमान चालीसा, रामचरित मानस , सुंदरकांड एव रामायण का अध्ययन करना चाहिए।  कहते हैं की जो भी भक्तजन प्रातकाल उठकर हनुमान चालीसा का अध्यन करते है, भगवान हनुमान उनकी सदैव रक्षा करते हैं। 

Hanuman Jayanti 2022

हनुमान जयंती 2023 में कब मनाई जाएगी :

हिंदू शास्त्रो के अनुसार प्रत्येक वर्ष हनुमान जयंती चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि को मनाई जाती है। इस साल हनुमान जयंती 6 अप्रैल 2023 को मनाई जाएगी। कई जगहों पर तो हनुमान जयंती कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मनाई जाती हैं। 


हनुमान जी की महिमा और उनकी पूजा के लाभ :

हनुमान जी को कलयुग के जागृत देवता के रूप में जाना जाता हैं , और ये बाते हमसे छुपी नहीं हैं की जब भी हनुमान जी को श्रद्धा एव मन से पुकारा जाए तो वे अपने भक्तो की और दौड़े चले आते हैं। शास्त्रों के अनुसार हनुमान जी आज भी पृथ्वी पर निवास करते है।  भगवान हनुमान जी को भगवान शिव के 11 वे रूद्र अवतार के रूप में जाना जाता है। हनुमान जी की माता का नाम अंजना माई और पिता जी का नाम महाराज केसरी था। जो भी व्यक्ति हनुमान जी की पूजा करते है उन्हें कोई संकट छू भी नहीं पाता। हनुमान जी की पूजा अरचना  से शनि देव जी की साढ़े सती का भी निवारण हो जाता है। 

कहते हैं की हनुमान जी की आराधना से नकारात्मक ऊर्जा का दमन होता है, भूत प्रेत की बाधाओं से मुक्ति और सकारात्मक्ता का प्रवेश होता हैं , हनुमान जी को त्रिदेव के समान माना जाता हैं।  कहते हैं की हनुमान ने ब्रह्मा के रूप में सृष्टि की उत्पत्ति की , विष्णु के रूप में पालना और रूद्र या शिवा के रूप में संहारकर्ता के रूप में भी जाने जाते है। 

hanuman jyanti shubh muhuarat

हनुमान जयंती 2023 की पुजा का शुभ मुहूर्त :

हनुमान जयंती 2022 का शुभ मुहूर्त कुछ इस प्रकार हैं :

  • पूर्णिमा तिथि 5 अप्रैल 2023  9 बजकर 21 मिनट ( 09 : 21 AM ) पर प्रारंभ हो जाएगी और 
  • पूर्णिमा तिथि 6 अप्रैल 2023 10 बजकर 06 मिनट ( 10 : 06 AM ) पर समाप्त हो जाएगी। 


हनुमान जयंती पर पूजा करने की विधि :

हनुमान जयंति पर इन महा शक्तिशाली मंत्रो का उच्चारण करना लाभकारी होता है :

1. ऊँ हनुमते नम:। 

2. अष्टादश मंत्र - 'ॐ भगवते आन्जनेयाय महाबलाय स्वाहा। 

3. पूजा में चोला चढ़ाना ,सुगन्धित तेल और सिंदूर चढ़ाने का भी विधान है।

4. रामचरित मानस का अखंड पाठ, सुंदरकाण्ड का पाठ, हनुमान चालीसा, बजरंग बाण, आदि का पाठ करना लाभकारी माना गया हैं।

Post a Comment

0 Comments